ज्ञानवापी मामले में अखिलेश यादव का विवादित बयान-हिंदू पीपल के पेड़ के नीचे रख दें पत्थर तो बन जाता है मंदिर!ट्रोलर्स ने भी दिया करारा जवाब- कोई भी मरे स्टेशन या सड़क पर लेटा कर बिछा दो हरी चादर तो बन जाती है दरगाह!

ज्ञानवापी मस्जिद के मामले में सपा नेता अखिलेश यादव ने अब विवादित बयान दिया है उनके बयान पर अब लोग उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे है। 
वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद मामले में सुप्रीम कोर्ट पर पूरे देश की निगाहें टिकी है वही दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने हिंदुओ की आस्था पर वार करते हुए विवादित बयान दिया,जिसके बाद वो तमाम हिंदू संगठनों के निशाने पर आ गए है। बुधवार को लखनऊ में एक प्रेस वार्ता के दौरान अखिलेश यादव ने हिंदू धर्म का मज़ाक उड़ाते हुए कहा कि हमारे हिन्दू धर्म मे यह है कि पीपल के पेड़ के नीचे कहीं भी पत्थर रख दो उस पर लाल झंडा लगा दो वो मंदिर बन जाता है।"


अखिलेश यादव  का ये विवादित बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा हैं और लोग उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे हैं. एक यूजर ने कहा,आपके धर्म मे कोई भी मरे स्टेशन और रोड के किनारे लिटा कर हरी चादर डाल दो बस दरगाह तैयार है फिर तो दो चार फिल्मी #$& को बुलाकर कब्बाली करवा देंगे और हिन्दू चढ़ावा देगा ।

 

 

एक यूजर ने लिखा -पिता ने अयोध्या के कारसेवकों पर गोली चलवाई थी. वहीं अब बेटा हिंदू धर्म का मजाक उड़ा रहा है. इन्हें सनातनी कहलाने का कोई हक नहीं है. एक यूजर ने कहा कि अखिलेश यादव एक बड़ी पार्टी के अध्यक्ष हैं।

 

उन्हें बिना सोचे-समझे इस तरह का विवादित बयान नहीं देना चाहिए। वहीं एक यूजर ने तंज कसते हुए कहा कि अखिलेश और सपा का हिंदू विरोध खुलकर सामने आ चुका है। अब हिंदुओं को समझ जाना चाहिए कि उनके मन में हिंदू धर्म के प्रति कितनी नफरत भरी हुई है।