गौरवशाली पल : हैदराबाद के रवि क्यासाराम को मिला अमेरिकन बिजनेस अवार्ड, रतन टाटा ने भी की प्रशंसा

"बड़े सपने देखो और उन्हें पूरा करने के लिए जीतोड़ मेहनत करो" यह बात हॉवर्ड यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट रवि सी. क्यासाराम ने जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ के फैकल्टी मेंबर्स से ‘ग्रोथ एंड स्ट्रैटेजी’ पर एक विशेष चर्चा के दौरान कही। उन्होंने कहा, कड़ी मेहनत और दृढ़ता ने मुझे जीवन में आगे बढऩे में मदद की और इन गुणों वाला कोई भी व्यक्ति जीवन बदल सकता है।

इससे पहले जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, जयपुर के निदेशक डॉ. प्रभात पंकज ने उनका स्वागत किया और उनके नाम पर जियो-टैग्ड पेड़ लगाने के लिए ग्रीन सर्टिफिकेट प्रदान किया। डॉ. प्रभात पंकज ने कहा कि रवि एक ऐसा व्यक्ति है जो आजीवन सीखता रहा है और निरंतर अपस्किलिंग में विश्वास करता है। वर्तमान में वह एमर्सन इलेक्ट्रिक में डायरेक्टर, ग्रोथ एंड डिमांड-मार्केटिंग, कोल्ड चेन के रूप में काम कर रहे हैं और कई अरब परियोजनाओं को संभालते हैं।
2013 में, उन्हें हार्वर्ड बिजनेस स्कूल में एमबीए प्रोग्राम के लिए चुना गया था, जिसे उन्होंने विशिष्टता के साथ पूरा किया। उन्होंने विशिष्ट टाटा प्रशासनिक सेवाओं का हिस्सा होने के अपने अनुभव को साझा किया। वह 2007 में 1400 आवेदकों में से चयनित छह में से एक थे, जिन्हें लोगों के असाधारण,प्रतिभाशाली पूल का हिस्सा बनने के लिए चुना गया था।

रवि सेंट लुइस, मिसौरी, यूएसए से ऑनलाइन कार्यक्रम में शामिल हुए और हार्वर्ड में अपने जीवन के बारे में बोलते हुए, उन्होंने साझा किया कि प्रायोगिक शिक्षा और केस-आधारित शिक्षण पर बहुत अधिक ध्यान दिया गया था और भारत में हमें स्थानीय मामलों पर भी ध्यान केंद्रित करना चाहिए।


उन्होंने विकास रणनीतियों के बारे में विस्तार से बात की और यह कैसे बहुआयामी परिवर्तन ला सकता है जो संभावित रूप से व्यक्तियों, एक संगठन और समुदायों और देशों के जीवन को बदल सकता है। उन्होंने कहा कि कड़ी मेहनत, लगन और जीवन भर सीखने का संयोजन सफलता की एक निश्चित कुंजी है। जयपुरिया, जयपुर के डीन एकेडमिक्स डॉ. अनुराग सिंह ने उनका धन्यवाद ज्ञापित किया।


रवि के परिवार में उनकी पत्नी तारिणी और दो बच्चे जिया और जिव है। टाटा समूह में रवि एक ईमानदार और कर्मठ संचालक के रूप में अपनी पहचान बना चुके है खुद रतन टाटा उनकी योग्यता की तारीफ कर चुके हैं