नैनीताल : ब्रह्ममुहूर्त में माँ नंदा सुनंदा की प्राण प्रतिष्ठा के बाद मंदिर में लगा भक्तों का तांता, यूट्यूब और फेसबुक के माध्यम से हुआ सीधा प्रसारण, हिंदी दिवस पर हुआ विशेष कार्यक्रम

मां नैना देवी परिसर नैनीताल में मूर्ति की स्थापना की गई, ब्रह्म मुहूर्त में प्राण प्रतिष्ठा हुई और 4:56 पर दर्शनार्थियों के दर्शन के लिए मंदिर परिसर खोल दिया गया,ब्रह्म मुहूर्त की पूजा पंडित भगवती प्रसाद जोशी द्वारा संपन्न करवाई गई और यजमान के रूप में पुष्पा जगाती एवम संतोष जगाती, भारती साह और विमल साह रहे। मां नंदा सुनंदा देवी के दर्शन क्रम बध रूप से करवाए गए,बेरिकेडिंग लगाकर कोविड़ नियमों का पालन सुनिश्चित किया गया। दर्शनार्थियों ने मां नंदा सुनंदा देवी के दर्शन किए एवम आशीर्वाद लिया। आज मां नंदा सुनंदा के दर्शन के लिए चार एलईडी स्क्रीन लगाई गई जो  सेवा समिति के सम्मुख ,श्री राम सेवक सभा मल्लीताल,  और  तल्लीताल  में इसे लगाया गया । कार्यकर्म का प्रसारण यूट्यूब तथा फेसबुक के माध्यम से भी "सीधा प्रसारण" किया। पंडित आचार्य भगवती प्रसाद जोशी,संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रतीक जैन,पंडित नवीन चंद्र तिवारी,नवीन जोशी,लतिका जलाल,नगरपालिका के अधिशाषी अधिकारी अशोक वर्मा , कमलेश ढोंढियाल ,मूर्ति निर्माण के कलाकारों में आरती संबल ,लोक लती राम आर्या,पर्यावरण के क्षेत्र में प्रो.हरीश बिष्ट , डॉ.आशीष तिवारी, प्रो.गिरीश रंजन तिवारी, सामाजिक क्षेत्र के अग्रणी दिनेश खेतवाल, डॉ.सरस्वती खेतवाल, कवित्री वीना भट्ट, आशा फाउंडेशन की अध्यक्ष डॉ.आशा शर्मा, मानसिक स्वास्थ हेतु रेशमा टंडन,प्रेमा गुसाई, ज्योति मेहरा, सुनीता वर्मा, कुलपति भरसार विश्विद्यालय प्रो.अजीत कर्नाटक,कुमाऊं आयुक्त सुशील कुमार,खष्टी बिष्ट,प्रताप रावत, कपिल जोशी, पदमश्री अनूप साह जिलाधिकारी धीरज गर्बियाल ने मंदिर परिसर में मां के दर्शन किए एवम आशीर्वाद लिया ।विधायक  संजीव आर्य ने मंदिर के दर्शन किए एवम आशीर्वाद लिया तथा सीधा प्रसारण में भागीदारी  निभाई।  सभासद नगर पालिका प्रेमा अधिकारी सीधा प्रसारण में पहुंची और सबको शुभकामना दी। डॉ.बिना सुयाल्र आज सीधा प्रसारण के माध्यम से देवी के महत्व सांस्कृतिक पहचान और  पर्यावरण सहित सामाजिक  विषयों पर चर्चा की । "सीधा प्रसारण "का कार्यक्रम  के संयोजक प्रो.ललित तिवारी ,हेमंत बिष्ट,नवीन पांडे,मीनाक्षी कीर्ति और  डॉ.मोहित सनवाल है,कार्यक्रम में विभिन्न विषयों पर चर्चा हुई।हिंदी दिवस के अवसर प्रो.चंद्रकला रावत कुमाऊनी भाषा पर और चर्चा के सीधे प्रसारण में पहुंची।