नई दिल्ली। गुजरात के सूरत रेलवे स्टेशन पर आज उस समय भगदड़ मच गयी जब लोग घर जाने के लिए ट्रेन का इंतजार कर रहे थे। इस दौरान जैसे ही ट्रेन स्टेशन पर पहुंची तो उसमें चढ़ने के वक्त यात्रियों में भगदड़ मच गई। भगदड़ में तीन से चार लोग बेहोश हो गए, सूरत रेलवे स्टेशन पर एम्बुलेंस द्वारा घायलों को प्राथमिक उपचार दिया गया। जहां उपचार के दौरान एक घायल शख्स की मौत हो गई। 

सूरत की सांसद और केंद्र सरकार में रेलवे राज्य मंत्री दर्शना जरदोष घायलों से मिलने के लिए अस्पताल पहुंची और घायलों से मुलाकात की। पुलिस अधीक्षक (पश्चिम रेलवे) सरजो कुमारी ने कहा कि यात्री सुबह सूरत रेलवे स्टेशन से ताप्ती गंगा एक्सप्रेस ट्रेन में चढ़ने के लिए दौड़ पड़े, जिससे अफरा-तफरी मच गई और कुछ लोग बेहोश हो गए। उन्होंने बताया कि रेलवे स्टेशन पर भारी भीड़ थी, जिसके कारण कुछ यात्रियों को घबराहट और चक्कर आने की समस्या हुई। 

यात्रियों में से एक को दिल संबंधित समस्या होने लगी और प्लेटफॉर्म पर मौजूद एक पुलिसकर्मी ने एम्बुलेंस में अस्पताल ले जाने से पहले सीपीआर दिया। अधिकारियों ने पीड़ित की पहचान अंकित वीरेंद्र सिंह के रूप में की है। एसएमआईएमईआर अस्पताल के रेजिडेंट मेडिकल ऑफिसर जयेश पटेल ने कहा कि एक आदमी भीड़ के कारण गिर गया और उसे मृत घोषित कर दिया गया। पोस्टमार्टम में मौत का सही कारण पता चलेगा। दो अन्य यात्रियों को सांस लेने में तकलीफ हुई और उनका इलाज चल रहा है। सूरत में हीरा और कपड़ा उद्योगों में लगे कई श्रमिक छठ पूजा के लिए बिहार और उत्तर प्रदेश स्थित अपने गृहनगर जाते हैं।