गुजरात/हिमाचल Election Exit poll:गुजरात मे BJP फिर होगी सत्ता पर काबिज!हिमाचल में Congress की पकड़ मजबूत!पानी तक नही पूछा AAP को दोनों राज्यो की जनता ने

भारत5/12/2022

गुजरात और हिमाचल प्रदेश के इलेक्शन पर हर किसी की नजर टिकी हुई थी। गुजरात मे दो चरणों मे मतदान हुआ जिनमे से पहले चरण में 19 जिलों की 89 तो दूसरे चरण में 14 जिलों की 93 सीटों पर दूसरे चरण के मतदान समाप्त हुए। कुल मिलाकर 182 सीटो में हुए मतदान से बीजेपी कांग्रेस या आम आदमी पार्टी की किस्मत तय होगी। 

वही हिमाचल प्रदेश में 12 नवंबर को मतदान खत्म हुए थे,रिजल्ट 8 दिसम्बर को जारी होगा।पिछली बार यानी 2017 में यहां भाजपा ने जीत हासिल की थी। ऐसे में हर कोई ये जानना चाहता है कि क्या इस बार हिमाचल का दशकों पुराना ट्रेंड बदल जाएगा या कायम रहेगा? भाजपा अपनी सत्ता बरकरार रखेगी या फिर कांग्रेस बाजी मार ले जाएगी?


इन दोनों ही राज्यो में हुए मतदान के बाद अलग अलग एग्जिट पोल सामने आए है। पीपल्स पल्स क्या कहता है गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनाव को लेकर आइये एक नजर डालते है।

गुजरात और हिमाचल मे बीजेपी ने दमदार दांव खेला है जिसको कड़ी टक्कर कांग्रेस से ही मिली।
गुजरात मे बीजेपी की दोबारा वापसी पर चुनावी रुझान सकारात्मक इशारा करते दिखाई दे रहे है। हिमाचल प्रदेश के चुनाव के अधिकतर एग्जिट पोल आम आदमी पार्टी (AAP) के खाते में एक भी सीट नहीं दिखा रहे हैं। यहां बीजेपी ने रिवाज बदलेगा से प्रचार प्रसार करते हुए उत्तराखंड उत्तरप्रदेश का उदाहरण देने की भरसक कोशिश की लेकिन पीपल्स पल्स के मुताबिक यहाँ बीजेपी के सत्ता में काबिज होने पर संशय दिखाई दे रहा है। यानी हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस जीतती दिखाई दे रही है।जबकि दोनों राज्यो में आप को जनता ने पानी भी नही पूछा।

पीपल्स पल्स, हिमाचल प्रदेश में चुनाव के बाद के सर्वेक्षण के अनुसार, कांग्रेस को 29-39 सीटें, भाजपा को 27-37 सीटें और अन्य को 2-5 सीटें मिलने की संभावना है। जिस पार्टी ने बहुत प्रचार के साथ शुरुआत की, सीटें और अन्य 2-5 सीटें। जिस पार्टी ने बहुत प्रचार के साथ शुरुआत की थी, उसके जीतने के बाद, सटे पंजाब में अपनी जीत के बाद, 2.1 प्रतिशत वोट शेयर के साथ एक भी सीट नहीं जीत पाएगी। राज्य में 68 सदस्यीय विधानसभा है, जिसका जादुई आंकड़ा 35 है। इस बात की प्रबल संभावना है कि जादुई आंकड़ा 35 हो। इस बात की प्रबल संभावना है कि निर्दलीय सरकार गठन में अहम भूमिका निभाएंगे।

कांग्रेस और बीजेपी के वोट शेयर में महज 0.4 फीसदी का अंतर है. कांग्रेस को 45.9 फीसदी, बीजेपी को 45.5 फीसदी और अन्य को 6.5 फीसदी वोट मिलेंगे. सर्वेक्षण में त्रुटि का मार्जिन + या - (प्लस या माइनस) 3 प्रतिशत है।

वहीं पीपल्स पल्स के एग्जिट पोल्स के रुझानों की बात करें तो भाजपा गुजरात में एकबार फिर सत्ता में लौटने में कामयाब हो सकती है, वहीं गुजरात में इतिहास रचते हुए सत्ता पलटकर परिवर्तन का दम भरने वाली आम आदमी पार्टी को मुँह की खानी पड़ सकती है। रुझानों के मुताबिक भाजपा को 125-143, कांग्रेस को 30-48 और आप आदमी पार्टी को 3-7 सीटों के मिलने का अनुमान है।


बता दे कि दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने एक निजी चैनल को इंटरव्यू के दौरान गुजरात जीतने का वादा किया था और कागज पर लिखकर जीत का दम भरा था।


क्या थे गुजरात मे पिछले चुनाव के नतीजे?


गुजरात विधानसभा का कार्यकाल अगले साल 18 फरवरी में खत्म हो जाएगा. 2017 के चुनाव में BJP ने गुजरात विधानसभा की 182 में से 99 सीटों पर जीत दर्ज की थी।वही Congress ने 77 सीटो पर ही जीत दर्ज की थी। नतीजों के बाद BJP ने विजय रूपाणी को मुख्यमंत्री बनाया गया था,लेकिन सितंबर 2021 में रूपाणी की जगह भूपेंद्र पटेल को मुख्यमंत्री बना दिया गया।  गुजरात में 2017 में 9 दिसंबर से 14 दिसंबर के बीच वोटिंग हुई थी. 18 दिसंबर को नतीजे आए थे।

क्या थे हिमाचल प्रदेश में पिछली बार के चुनावी नतीजे?

2017 में हिमाचल प्रदेश में भाजपा ने 44 सीटों पर जीत हासिल की थी, जबकि कांग्रेस के खाते में 21 सीटें गईं थीं। तीन सीट अन्य के खाते में गई थी। 2012 के मुकाबले भाजपा को 18 सीटों का फायदा हुआ था, जबकि कांग्रेस को 15 सीटों का नुकसान। मतलब एग्जिट पोल का ओवरऑल परिणाम तो सही निकला, लेकिन सीटों के गणित में काफी अंतर दिखा।