उत्तराखंड ब्रेकिंग:बधाई! नैनीताल के सेंट जोसेफ कॉलेज ने उत्तराखंड और नैनीताल में हासिल की टॉप पोजिशन,भारत मे सबसे प्रेरणादायक स्कूल बना

नैनीताल शहर आज एजुकेशनल हब के रूप में अपनी नई पहचान बना रहा है। कुमाऊं और गढ़वाल का पहला कैथलिक स्कूल सैंट जोसेफ एक बार फिर अपनी बेहतरीन एजुकेशन के लिए चर्चाओं में है। दरअसल एजुकेशन टुडे मैग्जीन की ओर से किये गए भारत के शीर्ष 5 बॉयज डेएस्कॉलर कम बोर्डिंग के टॉप स्कूलों के सर्वे में नैनीताल का सैंट जोसेफ कॉलेज ने भारत मे नंम्बर 3,उत्तराखंड में नंम्बर 1 और नैनीताल में भी नंम्बर 1 स्थान हासिल  किया है। इसके लिए 11 और 12 जनवरी 2022 को इंडियाज स्कूल मेरिट अवार्ड्स 2021 बेंगलुरु के चांसरी पवेलियन में आयोजित किये जायेंगे,जिसका प्रकाशन मैग्जीन के 9वें वार्षिक कॉर्पोरेट शिक्षा संस्करण Education Today में किया जाएगा।


आपको बता दें कि एजुकेशन टुडे द्वारा प्राप्त कुल 1428 से अधिक सर्वेक्षण प्रपत्रों में से 'इंटरनेशनल, बोर्डिंग, डे कम बोर्डिंग, सीबीएसई, आईसीएसई, राज्य, लड़कों और लड़कियों' श्रेणी में शीर्ष स्कूलों और प्री-स्कूल का चयन किया गया है। स्कूलों को 15 मापदंडों के तहत वर्गीकृत किया गया है, अर्थात, शैक्षणिक प्रतिष्ठा, शिक्षकों की उन्नति और कल्याण, सह-पाठ्यचर्या शिक्षा, खेल शिक्षा, डिजिटल लर्निंग एडवांसमेंट, छात्र उन्नति और सलाह, गुणवत्ता प्रबंधन में नेतृत्व, माता-पिता की व्यस्तता, भविष्य-सबूत सीखना इंफ्रास्ट्रक्चर, वैल्यू फॉर मनी, सामुदायिक सेवा, समग्र शिक्षा, छात्रों की मनोवैज्ञानिक भलाई, छात्रों पर व्यक्तिगत ध्यान और एकीकृत शिक्षा। इंडिया स्कूल मेरिट अवार्ड्स, 2021 जूरी रेटिंग, माता-पिता के वोट (76,738 वोट) और एजुकेशन टुडे टीम एनालिसिस (धारणा आधारित, सर्वेक्षण और नामांकन आधारित) पर आधारित हैं।


इस मौके पर सैंट जोसेफ के प्रिंसिपल ब्रदर हेक्टर पिंटो का कहना है कि पिछले दो सालों से कोरोना की वजह से विद्यालय द्वारा केवल ऑनलाइन पढ़ाई ही करवाई गई,इसके बावजूद विद्यालय के छात्रों ने हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा साबित की और नाम कमाया। आज विद्यालय को जो नाम सम्मान मिला है उसमें स्कूल के अध्यापकों,स्टॉफ,स्टूडेंट्स और अभिभावकों का सहयोग रहा है जिनके बलबूते पर ही विद्यालय उत्तराखंड और नैनीताल में नंम्बर 1 स्थान प्राप्त कर पाया। इस उपलब्धि का श्रेय आज इन्हीं सब को जाता है।