पंजाब:पीएम मोदी सुरक्षा चूक! दो एसएसपी हुए सस्पेंड! केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी पंजाब कांग्रेस से पूछे ये तीन सवाल!

पंजाब में पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक पर बड़ी खबर सामने आयी है। मामले में दो एसएसपी सस्पेंड किये गए है,हालांकि इसकी पुष्टि अभी आधिकारिक तौर पर नही हुई है।

पीएम मोदी के काफिले में सुरक्षा में हुई चूक के बाद पीएम मोदी की फिरोजपुर रैली रद्द हो गई,जिसके बाद फिरोजपुर में होने वाले कार्यक्रम को रद्द करना पड़ा,और प्रधानमंत्री हुसैनीवाला बॉर्डर से ही दिल्ली लौट गए। जिसके बाद केंद्र सरकार और पंजाब सरकार के बीच नए विवाद की शुरुआत हो गई है। वहीं पंजाब सरकार ने फिरोजपुर और फरीदकोट के एसएसपी निलंबित कर दिए हैं। हालांकि अभी इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। 

गृह मंत्रालय के अनुसार, हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक से लगभग 30 किलोमीटर दूर, जब पीएम का काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा, तो वहां कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को अवरुद्ध कर दिया था। पीएम 15-20 मिनट फ्लाईओवर पर फंसे रहे। पीएम की सुरक्षा में यह बड़ी चूक थी।

 

उधर बुधवार शाम केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और सुधांशु चतुर्वेदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पंजाब की कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा। स्मृति ईरानी ने पीएम की सुरक्षा की चूक को लेकर कांग्रेस से तीन बड़े सवाल पूछे।
सवाल-1: "कांग्रेस को आज जवाब देना होगा। पीएम किस रूप से एक स्थल पर पहुंचते हैं। उस पूरे रूट की सुरक्षा का प्रबंध और कोई भी गतिरोध नहीं है ऐसा आश्वासन पंजाब पुलिस से पीएम के सुरक्षा दस्ते को मिला। क्या जानबूझकर पीएम के सुरक्षा दस्ते को झूठ बोला गया? 

सवाल-2: पीएम के पूरे काफिले को जब रोकने का प्रयास किया गया, 20 मिनट तक जब उनकी सुरक्षा भंग हुई, सुरक्षा भंग करने वाले आखिर पीएम की गाड़ियों के पास कैसे पहुंचे? 

सवाल-3: पूरा भारत जानता है कि पीएम की मूवमेंट कहां हो रही है, ये साधारणतः जानकारी उपलब्ध नहीं होती। उस दौरान किसने प्रदर्शनकारियों को वहां भेजा, इसका जवाब कांग्रेस को देना होगा?


प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "भारत के इतिहास में आज कांग्रेस के इरादे नाकाम रहे। जो लोग कांग्रेस में मोदी से नफरत करते हैं, वो आज देश के पीएम, उनकी सुरक्षा किस तरह से भंग किया जाए, उसके लिए प्रयास करते हैं। जो आक्रोश आप हममें और सुधांशु जी में देख रहे हैं, वो सिर्फ हमारे राजनीतिक संगठन तक सीमित नहीं है। हमने बार-बार कहा है कि नफरत कांग्रेस को मोदी से है, देश के पीएम से नफरत न करें।"