उफ़्फ़ ये कोरोना! लॉक डाउन के डर से व्यापारी ने की आत्महत्या की कोशिश, अस्पताल में भर्ती

बीते दो सालों से छोटे मझले व्यापारी आर्थिक संकट में घिरे हुए है,कोरोना के चलते लगे लॉक डाउन में इन व्यापारियों पर ही सबसे ज़्यादा आर्थिक संकट मंडराया। कोरोना का ग्राफ नीचे आने के बाद भविष्य में कुछ बेहतर होगा ये सोच ही रहे थे कि कोरोना का नया वैरिएंट देश मे दस्तक दे चुका है। सम्भावना ऐसी बनती दिखाई दे रही है कि कहीं देश में दोबारा लॉक डाउन की स्थिति पैदा न हो जाये। इसी डर में छतरपुर जिले के मातगुवां थाना क्षेत्र में एक कपड़ा कारोबारी ने जहर खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की।
खण्डगाय निवासी कपड़ा व्यवसायी अंशुल शर्मा ने लॉक डाउन के डर की वजह से ज़हर खा लिया,गनीमत रही कि समय पर उसे जिला अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी जान बच गयी और फ़िलहाल उसकी हालत बेहतर है। 
स्थानीय मीडिया को अंशुल ने बताया कि गांव में उसकी छोटी सी कपड़े की दुकान है साथ ही हाट बाजार में भी वो दुकान लगाता है कोरोना की तीसरी लहर की खबरे रोज सुनाई दे रही है,पहले और दूसरे लॉक डाउन में उसके कारोबार को बहुत नुकसान हुआ था, जिसकी भरपाई अब तक नही हो पाई। अब तीसरी लहर की सुगबुगाहट में फिर लॉक डाउन का डर सताने लगा है इसीलिए घर मे रखी चूहे मार दवाई अंशुल ने खा ली ताकि इन मुसीबतों से छुटकारा मिलसके। अंशुल की दो महीने की बेटी है। उसे समझ नही आ रहा कि जीवन मे क्या होगा।