रैलियों में कोरोना से डरने की ज़रूरत नहीं? पर्याप्त संसाधन है:नकवी! सूर्य नमस्कार पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर भी साधा निशाना

बीजेपी के नेता और केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के ट्वीट और उनके बयान से ट्वीटर वॉर शुरू हो गयी है। उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव में की जाने वाली रैलियों और सूर्य नमस्कार पर अलग अलग बयान दिए है जो सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोर रहे है। 
मुख्तार अब्बास नकवी ने चुनावी रैलियों पर बयान दिया है कि रैलियों से घबराने की ज़रुरत नही है हमारे पास पर्याप्त संसाधन है। नकवी ने ये भी कहा कि कोविड 19 को लेकर दहशत नही होनी चाहिये, हमे योजना बनानी चाहिए, सावधानी बरतनी चाहिए, रोकथाम के प्रयास करने चाहिए। राजनीतिक रैलियों और संक्रमण फैलने के डर से घबराने की ज़रूरत नही है हमारे पास पर्याप्त संसाधन है।

उधर नकवी ने ट्वीट करते हुए मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के स्वतंत्रता दिवस की 75 वी वर्षगांठ पर स्कूलों में सूर्य नमस्कार कार्यक्रम आयोजित करने के केंद्र सरकार के निर्देश के विरोध पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। 

उन्‍होंने कहा कि यह फर्जी फतवा की फैक्ट्री की एक और फुलझड़ी है,लेकिन पूरी दुनिया को पता है कि सूर्य नमस्कार से ताकत मिलती है। नकवी ने बोर्ड की अपील से जुड़ी खबरें साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘फर्जी फतवा फैक्ट्री की एक और फुलझड़ी, इन्हें सूर्य से एलर्जी है या नमस्कार से, यह तो इनकी कुन्द बुद्धि जाने? पर सूर्य और नमस्कार दोनों ऊर्जा देते हैं, यह दुनिया भर को पता है।"