श्रद्धा हत्याकांड में सामने आया नया खुलासा, जॉनी डेप और एम्बर हर्ड के केस से आफताब ने सीखें थे कानूनी दांव पेंच 

श्रद्धा हत्याकांड में बेहद चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. आरोपी अफताब की इंटरनेट सर्च हिस्ट्री (Internet Search History) को खंगालने पर पता चला है कि श्रद्धा की हत्या के कुछ दोनों बाद जून महीने में लड़े गए दुनिया के सबसे महंगे मुकदमे को आफताब ने कई बार देखा और पढ़ा भी. फिर इसी केस से कानून के तमाम दांव पेंच के बारे में अपनी समझ को बढ़ाया.

श्रद्धा की हत्या के बाद जब मुंबई पुलिस श्रद्धा की मिसिंग केस की तफ्तीश कर रही थी, तब आफताब से कई राउंड की पूछताछ की गई थी. उस समय मुंबई पुलिस को गुमराह करने में आफताब कामयाब भी रहा. मुंबई पुलिस के सामने उसने दावा किया था की श्रद्धा उसे छोड़कर चली गई है जिस पर मुंबई पुलिस ने भरोसा किया और आफताब को छोड़ दिया. दिल्ली पुलिस ने भी अफताब से श्रद्धा को लेकर कई राउंड की पूछताछ की थी जिसमें वो लगातार दिल्ली पुलिस को गुमराह करता रहा.

अब अफताब की इंटरनेट सर्च हिस्ट्री से इस बात का खुलासा हुआ कि आखिर कैसे उसने कानूनी दांव-पेंच के हर हथकंडे को पहले से जानने और समझने की कोशिश की थी. जिसका इस्तेमाल उसने दिल्ली-मुंबई पुलिस को जांच के दौरान उलझाने में किया.


क्या था जॉनी डेप और एम्बर हर्ड का केस?
हॉलीवुड सुपर स्टार जॉनी डेप (Johnny Depp) की पूर्व पत्नी एम्बर हर्ड (Amber Heard) ने साल 2018 में एक अखबार को इंटरव्यू देकर ये दावा किया था कि वो डोमेस्टिक वॉयलेंस का शिकार हुईं थीं. उन्होंने कहा था कि जॉनी ने उनका शारीरिक और मानसिक शोषण किया था. इसके बाद जॉनी ने अपनी पूर्व पत्नी पर मानहानि का केस किया था. ये केस पूरी दुनिया में चर्चा में रहा था. केस में 100 घंटे की गवाही हुई थी और जॉनी की तरफ से अदालत में मजबूत दलीलें दी गईं थीं. इस केस को दुनिया भर में LIVE देखा गया था. जिसे दिल्ली के उसी खूनी फ्लैट में बैठकर श्रद्धा की हत्या करने के बाद आफताब भी देख रहा था. जॉनी डेप ने मानहानि के केस को जीत लिया था और हर्जाने के तौर पर उसे 15 मिलियन डॉलर मिले थे.


हत्या के बाद आफताब ने किया था आराम
बता दें, दिल्ली के श्रद्धा मर्डर केस का आरोपी आफताब तिहाड़ जेल में बंद है. आफताब ने पूछताछ में खुलासा किया कि श्रद्धा की हत्या करने के बाद उसने कुछ देर आराम किया. उसके बाद उसी रात श्रद्धा की बॉडी के कुछ हिस्सों के टुकड़े किए और बाकी हिस्सा उसने छोड़ दिया. फिर अगली सुबह बॉडी के बचे हिस्सों के टुकड़े किए. आफताब मुंबई के 5 स्टार होटल में शेफ की नौकरी कर चुका था इसलिए उसे मालूम था कि किसी भी बॉडी को कैसे और किस तरह से आसानी से काटा जा सकता है. वो अलग बात है इस बार वो किसी जानवर का नहीं, बल्कि अपनी खुद की गर्लफ्रेंड की लाश के टुकड़े कर रहा था.

4 महीने तक बॉडी के टुकड़ों को फ्रिज में रखा
बॉडी के टुकड़े करने के लिए उसने आरी समेत कई धारदार हथियारों का इस्तेमाल किया था. आरी को गुरुग्राम में अपने दफ्तर के पास फेंक दिया था. उस आरी को तलाशने के लिए दिल्ली पुलिस ने उस इलाके में काफी सर्च अभियान चलाया लेकिन आरी अब तक बरामद नहीं हुई है. पूछताछ में आफताब ने बताया की उसने श्रद्धा की बॉडी के टुकड़ों को तकरीबन 4 महीने तक फ्रिज में रखा था. अफताब ने पूछताछ में बताया कि श्रद्धा की हत्या करने के बाद वो बेहद ठंडे दिमाग से हर काम कर रहा था. हर सबूत मिटा रहा था. श्रद्धा की बॉडी को कहां और कैसे ठिकाने लगाना है वो हर वक्त इसके बारे में सोचता रहता था.