काशी विश्वनाथ कॉरिडोर| जानिए आखिर क्यों मोदी ने 'काशी' में 'केदार' को किया याद

वाराणसी| प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का देवभूमि  से विशेष लगाव है यह बात तो जगजाहिर है और समय-समय पर प्रदर्शित भी होती है। कल काशी विश्वनाथ कॉरिडोर देश को समर्पित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए कलेवर में केदार पुरी का उल्लेख किया और साथ ही साथ चार धाम को जोड़ने वाली ऑल वेदर रोड को रेखांकित भी किया।

यह बात कोई नई नहीं है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का केदार बाबा के प्रति प्रेम दिखा हो। बता दे कि प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट यही है कि 2013 की केदारनाथ आपदा में जो तबाही हुई थी उसके बाद केदारनाथ का पुनः निर्माण अच्छे से हो, जो अभी कार्यरत भी है। यह भी कहा जाता है कि एक दौर में उन्होंने केदारनाथ के समीप ही तपस्या करी थी जिसके बाद उनका राजनैतिक शुरू हुआ।

प्रधानमंत्री जहां भी जाते हैं वह केदारनाथ का जिक्र जरूर करते हैं इसीलिए विश्व भर से हिंदुओं का केदारनाथ में आगमन हर साल बढ़ता जाता है। बता दें कि सोमवार को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर समर्पित करते हुए भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड की परियोजनाओं का भी जिक्र किया। ऑल वेदर रोड  और नमामि गंगे जैसी योजनाएं प्रदेश में अभी चल रही है और दोनों के ही सकारात्मक परिणाम भी सामने आ रहे हैं।

 

जहां उत्तराखंड वासियों के लिए यह गर्व की बात है वही राजनीतिक विश्लेषकों का इस बात के लिए अलग मायने है बता दे कि अगले साल उत्तराखंड में भी विधानसभा चुनाव होने हैं इसीलिए इन प्रशंसा से पूर्ण वाक्यों का उत्तराखंड के वोटरों पर भी असर पड़ना लाजमी है।