निर्मला हत्याकाण्ड की इनसाइड स्टोरीः प्यार, तकरार, तलाक और हत्या

रुद्रपुर। कहते हैं नशा किसी भी चीज का हो वह इंसान को एक न एक दिन बर्बाद कर ही देता है। कुछ ऐसा ही एक मामला रुद्रपुर में सामने आया है, जहां एक युवक ने अपनी प्रेमिका से विवाह रचाया और कुछ समय बाद जब दोनों के बीच अनबन शुरू हुई तो दोनों एक-दूसरे से अलग हो गये। बात यहीं नहीं रूकी, तलाक के बावजूद भी दोनों में प्यार-तकरार का सिलसिला जारी रहा और अंत में इसी प्यार-तकरार ने दो परिवारों को बर्बाद कर दिया। गौरतलब है कि विगत देर शाम शहर के संजय नगर खेड़ा वार्ड 11 में रहने वाले किंकर मंडल उर्फ भोला ने अपनी पहली पत्नी निर्मला की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी थी। घटना के बाद पुलिस ने हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया। घटना से जहां शहर में सनसनी फैली हुई हैं वहीं क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार गर्म हैं। 


बता दें कि निर्मला हत्याकाण्ड का आरोपी किंकर मण्डल उर्फ भोला पेशे से ठेकेदारी का काम करता है। बताया जाता है कि कुछ साल पहले भोला ने निर्मला से प्रेम विवाह रचाया था। चूंकि निर्मला दूसरी जाति से तालुक रखती थी तो भोला के घर वालों ने उनके विवाह को स्वीकार नहीं किया, जिसके चलते भोला और निर्मला के बीच अक्सर तकरार होते रहती थी। इसी के चलते भोला नशे का आदि हो गया, जिससे दोनों के बीच तकरार और बढ़ गयी। कुछ समय बाद भोला और निर्मला ने एक दूसरे से अलग होने का फैसला लेते हुए तलाक ले लिया। तलाक के दौरान भोला ने अपनी तलाकशुदा पत्नी निर्मला को धनराशि के साथ मलिक कॉलोनी में एक मकान भी दिया। इस बीच निर्मला को एक बेटा पैदा हुआ और निर्मला अपने बेटे के साथ मलिक कॉलोनी में रहने लगी। इसके बाद भोला के परिजनों ने उसकी दूसरी शादी पीलीभीत निवासी बबीता से करवा दी। शादी के बाद सबकुछ ठीक चल रहा था इसके बाद बबीता को भी भोला से एक बेटा पैदा हुआ। बताया जाता है कि बबीता एक समृद्ध परिवार से थी और शादी के बाद भी वह शिक्षा ग्रहण कर रही थी और वर्तमान में वह शहर के एक निजी कॉलेज से नर्सिंग की शिक्षा ले रही है। लोगों की मानें तो भोला अभी भी अत्यधिक नशे का आदि था जिसको लेकर उसका और परिवार के लोगों में आए दिन कलह होते रहता था। इतना नहीं तलाक के बावजूद भी भोला अपनी पहली पत्नी निर्मला से बात करता था और कभी-कभी उससे मिलने भी जाता था। लेकिन बीती शाम जो हुआ वह बेहद खौफनाक था, बताया जाता है कि रविवार की शाम भोला अपनी दूसरी पत्नी और बच्चे के साथ खेड़ा में अपने घर पर था और घर में बच्चे के जन्मदिन की तैयारियां चल रही थीं तभी वहां निर्मला कुछ पुलिस कर्मियों के साथ आ धमकी। निर्मला को पुलिस के साथ घर में देख भोला आग बबूला हो गया और निर्मला-भोला के बीच कहासुनी होने लगी। देखते ही देखते कहासुनी इतनी बढ़ गयी कि भोला ने तैश में आकर निर्मला के उपर धारधार हथियार से हमला बोल दिया। इस हमले में निर्मला की मौके पर दर्दनाक मौत हो गयी। लोगों की मानें तो घटना के वक्त पुलिस कर्मी वहां मौजूद थे और बाद में वह वहां से नौ-दो-ग्यारह हो गये। हांलाकि पुलिस अधिकारी इसे अफवाह बता रहे हैं, फिलहाल घटना के कुछ समय बाद ही पुलिस ने आरोपी भोला को गिरफ्तार कर लिया। और भोला के साथ ही पुलिस उसकी दूसरी पत्नी बबिता मंडल और किंकर के पिता सुखदेव मंडल को पूछताछ के लिए थाने ले गयी। वहीं हत्याकाण्ड के बाद पुलिस की कार्यशैली पर भी कई सवाल खड़े हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि घटना के वक्त पुलिस कर्मी वहां मौजूद थे, जबकि पुलिस के आलाधिकारी इसे अफवाह बता रहे हैं। चर्चा ये भी है कि भोला के पिता सुखदेव मंडल क्षेत्र के नामी ग्रामी ठेकेदार हैं जिनकी महीने की आमदनी लाखों रुपये बताई जा रही है। लोगों का कहना है कि इकलौता बेटा होने की वजह से सुखदेव मण्डल ने भोला को खुली आजादी दी थी और इसी आजादी के चलते वह नशे का आदी बन गया और अंततः भोला ने इतने बड़ी वारदात को अंजाम दे डाला, जिसका अंत दुखद और बेहद खौफनाक है।