बिग ब्रेकिंगः सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, रोडरेज केस में नवजोत सिंह सिद्धू को एक साल की जेल!

सुप्रीम कोर्ट से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि रोड रेज मामले में नवजोत सिंह सिद्धू को बड़ा झटका लगा है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें एक साल की सजा सुनाई है। सजा के मुताबिक सिद्धू को एक साल तक कठोर कारावास में रहना होगा।


 

बता दें कि यह रोड रेज का मामला 1988 का है। इससे पहले नवजोत सिंह सिद्धू को इस मामले में राहत मिल गई थी, लेकिन रोडरेज में जिस शख्स की मौत हुई थी, उसके परिवार ने रिव्यू पिटीशन दायर की थी। अब उसपर सुनवाई करते हुए सिद्धू को एक साल सश्रम यानी कठोर कारावास की सजा सुनाई गई है। 
सिद्धू के खिलाफ रोडरेज का मामला साल 1988 का है। सिद्धू का पटियाला में पार्किंग को लेकर 65 साल के गुरनाम सिंह नामक बुजुर्ग व्यक्ति से झगड़ा हो गया। आरोप है कि उनके बीच हाथापाई भी हुई। जिसमें सिद्धू ने कथित तौर पर गुरनाम सिंह को मुक्का मार दिया। बाद में गुरनाम सिंह की मौत हो गई। पुलिस ने नवजोत सिंह सिद्धू और उनके दोस्त रुपिंदर सिंह सिद्धू के खिलाफ गैर-इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया। 
इसके बाद मामला अदालत में पहुंचा। सुनवाई के दौरान सेशन कोर्ट ने नवजोत सिंह सिद्धू को सबूतों का अभाव बताते हुए 1999 में बरी कर दिया था। इसके बाद पीड़ित पक्ष सेशन कोर्ट के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंच गया। साल 2006 में हाईकोर्ट ने इस मामले में नवजोत सिंह सिद्धू को तीन साल कैद की सजा और एक लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई थी।
हाईकोर्ट से मिली सजा के खिलाफ नवजोत सिद्धू सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए। सुप्रीम कोर्ट ने 16 मई 2018 को सिद्धू को गैर इरादतन हत्या के आरोप में लगी धारा 304IPC से बरी कर दिया। हालांकि, IPC की धारा 323, यानी चोट पहुंचाने के मामले में सिद्धू को दोषी ठहरा दिया गया। इसमें उन्हें जेल की सजा नहीं हुई। सिद्धू को सिर्फ एक हजार रुपया जुर्माना लगाकर छोड़ दिया गया। आज रिव्यू पिटीशन पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू को एक साल सश्रम यानी कठोर कारावास की सजा सुनाई है।