रक्षाबंधन से पहले भाई ने फांसी लगाकर की आत्महत्या!माँ की मौत नही कर पा रहा था बर्दाश्त, सुसाइड नोट में लिखा-कमिंग मम्मी जी

माँ की मौत को बेटा बर्दाश्त नही कर पाया,डिप्रेशन में जाने के बाद बेटे ने भी राखी से कुछ दिन पहले फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली और सुसाइड नोट में लिख गया कि कमिंग मम्मी।
ये हादसा राजस्थान के पाली जिले के सेंचुरी गॉर्डन के पास का है। यहां 19 साल के यश सुथार की मां का निधन एक वर्ष पहले हुआ था। माँ से अत्यधिक लगाव के चलते बेटा यश मां की मौत का सदमा बर्दाश्त नही कर पा रहा था। किसी तरह उसने डिप्रेशन में एक साल बिताया। लेकिन इसी शनिवार को शाम को उसने अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जिस वक्त ये हादसा हुआ उस वक्त यश की बड़ी बहन घर पर ही थी। काफी देर से यश अपने रूम में था। जब वो बाहर नही आया तो बड़ी बहन ने उसके रूम में जाकर देखा। भाई को फांसी से लटका हुआ देखकर बहन के होश ही उड़ गए। आनन फानन में भाई को पिता राजेंद्र और मामा की मदद से वो हॉस्पिटल ले गई लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। 
बहन ने बताया कि उनकी मां कैंसर से पीड़ित थी। बीमारी के दौरान यश ने उनकी बहुत सेवा की थी। माँ की मौत के बाद यश को गहरा सदमा लगा था। सबके समझाने के बाद भी यश 8स सदमे से बाहर नही आ पा रहा था। वो डिप्रेशन में रहने लगा था। पिता यश की हालत देखकर ही महाराष्ट्र के कोल्हापुर से राजस्थान पाली जिले में शिफ्ट हुए थे,लेकिन यहां भी उसका डिप्रेशन कम नही हुआ। 
यश ने सुसाइड नोट लिखा था जिसमे उसने कहा कि मेरा कारण मैं खुद हूँ किसी पर भी आरोप मत लगाना। ये मेरी दुनिया नही है और सॉरी मेरे पास जो पैसा है वो मेरी दोनों बहनों को आधा आधा रक्षाबंधन पर दे देना।
कमिंग मम्मी जी।
यह ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर भी लिखा है कि मम्मी तेरे बिना अधूरा ही रहा और दर्द में रहा। इन लाइन्स से पता चलता है कि यश किस कदर अपनी मां को प्यार करता था और मां की मौत बर्दाश्त नही कर पाया।
ये सब पढ़कर दोनों बहनों और पिता का रो रो कर बुरा हाल हो गया।